बदल गया पता, लेकिन नहीं बदला आशियाना

4 years ago एम सांकृत्यायन 0

पटनादृ बिहार सरकार के भूमि सुधार व राजस्व मंत्री रमई राम के सरकारी आवास का पता बदले हुए अब करीब दो महीना होने को है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उनका ठिकाना बदल गया है। ठिकाना नहीं बदलने का आशय यह है कि जो सरकारी आवास श्री राम को आवंटित किया गया था वह विभागीय आदेश के बावजूद खाली पड़ा है। यह इसलिए भी उल्लेखनीय है कि पटना हाईकोर्ट के एक फैसले के बाद रमई राम के सरकारी आवास का मुख्य द्वार भवन निर्माण विभाग द्वारा बंद कर दिया गया था और वे अपने ही घर में लगभग नजरबंद हो गये थे। बाद में उन्होंने विभाग से आवास बदलने की गुहार लगाया था। इसके आलोक में विभाग की ओर से उन्हें पोलो रोड में एक सरकारी आवास मुहैया कराया गया। इस संबंध में विभाग द्वार एक आदेश 21 अगस्त को जारी किया गया। इसके बाद कागजी तौर पर उनका सरकारी पता 5, पोलो रोड हो गया। लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं हुआ। रमई राम का वर्तमान पता अब भी पूर्व वाला पता ही है और जो आवास आवंटित किया गया था, वह अभी रिक्त पड़ा है। यहां तक कि भवन निर्माण विभाग द्वारा शुरू किये गये ई-आवास योजना के वेब पोर्टल पर भी इस आवास को खाली दिखाया गया है। विभाग द्वारा आवंटित आवास को न स्वीकारने के पीछे बताया जा रहा है कि रमई राम द्वारा एक विशेष आवास की मांग की गयी है। सूत्रों के अनुसार रमई राम ने विभाग को स्पष्ट कह दिया है कि वे जायेंगे तो एक विशेष आवास में ही, वर्ना वे उसी पुराने आवास में रहेंगे। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रमई राम की जिद के आगे विभाग ने अब हथियार डाल किया है। उनके अनुसार अब यह मामला मुख्यमंत्री के पास विचाराधीन है। वहीं इस मामले में रमई राम ने कुछ भी कहने से इन्कार किया है।