हर महीने हो सकती है मोटी कमाई, लॉकडाउन में भी हिट है डेयरी बिजनेस

लॉकडाउन से जहां ज्यादातार बिजनेस प्रभावित हुआ है। वहीं दूध और दूध से बने प्रोडक्‍ट्स का बिजनेस ऐसी परिस्थिति में भी फायदे वाला रहा।

कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन से जहां ज्यादातार बिजनेस प्रभावित हुआ है, वहीं दूध और दूध से बने प्रोडक्‍ट्स का बिजनेस ऐसी परिस्थिति में भी फायदे वाला रहा। लॉकडाउन में डेयरी प्रोडक्ट्स की बिक्री पर किसी तरह की पाबंदी नहीं रही। इससे प्रोडक्ट की मांग पर लॉकडाउन का ज्यादा असर नहीं हुआ। लॉकडाउन में आप भी अगर कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो इन प्रोडक्‍ट्स की यूनिट लगा सकते हैं। इसके लिए सरकारें लोन भी देती हैं और सपोर्ट भी। मुद्रा स्कीम के तहत सरकार ने इस बिजनेस के लिए एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाई है, जिसे जानकर आप अपनी लागत और मुनाफे का अंदाजा लगा सकते हैं।
70 फीसदी लोन देगी सरकार
अगर आप दूध या दूध से बने प्रोडक्‍ट्स की यूनिट शुरू करना चाहते हैं तो आप फ्लेवर मिल्‍क, दही, बटर मिल्‍क और घी बनाकर बेच सकते हैं। प्रधानमंत्री मुद्रा स्‍कीम द्वारा तैयार किए प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक आप लगभग 16 लाख रुपए से ऐसा एक प्रोजेक्‍ट तैयार कर सकते हैं। इसमें से आपको लगभग 5 लाख रुपए का इंतजाम करना पड़ेगा, जबकि 70 फीसदी पैसा बैंक आपको मुद्रा स्‍कीम के तहत लोन दे सकते हैं। इनमें टर्म लोन के तौर पर 7.5 लाख रुपए और वर्किंग कैपिटल लोन के तौर पर 4 लाख रुपए मिलेगा।
इस प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के मुताबिक, आपको महीने में लगभग 12 हजार 500 लीटर कच्‍चा दूध लेना होगा, जबकि 1000 किलोग्राम शुगर खरीदना होगा। इसी तरह आपको 200 किलोग्राम फ्लेवर और 625 किलोग्राम स्‍पाइस और नमक का भी इंतजाम करना होगा। इन चीजों पर आपका हर महीने लगभग 4 लाख रुपए का खर्च आएगा।

कितने स्थान की पड़ेगी जरूरत?
अगर आप यह प्रोजेक्ट लगाना चाहते हैं तो आपको लगभग 1000 वर्ग फुट स्थान की जरूरत पड़ेगी। लगभग 500 वर्ग फुट में आपको प्रोसेसिंग एरिया बनाना होगा। इस प्रोजेक्ट के लिए रेफ्रिजरेशन की बहुत जरूरत पड़ेगी। इसलिए लगभग 150 वर्ग फुट में रेफ्रिजरेशन रूम बनाना होगा। वाशिंग एरिया 150 वर्ग फुट, ऑफिस स्थान 100 वर्ग फुट और टॉयलेट जैसी सुविधा के लिए 100 वर्ग फुट स्थान की जरूरत होगी।

कितनी होगी आपकी टर्नओवर?
अगर आप प्रधानमंत्री मुद्रा स्कीम के प्रोफाइल इस प्रोजेक्ट प्रोफाइल के मुताबिक बिजनेस करते हैं तो आप एक साल में लगभग 75 हजार लीटर फ्लेवर मिल्क सेल कर सकते हैं, इसके अलावा लगभग 36 हजार लीटर दही, बटर मिल्क 90 हजार लीटर और 4500 किलोग्राम घी बना कर सेल कर सकते हैं। इससे आप लगभग 82.50 लाख रुपए की टर्नओवर कर सकते हैं।

कितना होगा लाभ?
अगर आप एक साल में 82.50 लाख रुपए की सेल करते हैं और आपका साल भर खर्च लगभग 74.40 लाख रुपए होगा, जिसमें कॉस्ट के साथ साथ लोन पर 14 फीसदी की दर से ब्याज भी शामिल होगा। इस तरह आपको एक साल में लगभग 8.10 लाख रुपए का नेट प्रॉफिट होगा। इस लिहाज से हर महीने 65 हजार रुपए से ज्यादा इनकम हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Top
ब्रेकिंग
सामने आया मेडिकल कॉलेज आज़मगढ़ के प्रिंसिपल का असली चेहरामज़दूरों की आठ घंटे काम की मांग ने पूंजीवाद को हिला दिया था…जनहित इंडिया ट्रस्ट लेगा अन्य राज्यों से पैदल पलायन किये गरीब मज़दूरों की सुधिआज़मगढ़ में केवाईसी जमा करने के लिए उमड़ी हजारों की भीड़मण्डलायुक्त ने अन्य राज्यों व जनपदों से आने वाले छात्रों एवं प्रवासी मजदूरों को उपलब्ध सुविधाओं का लिया जायजाकैंसर पीड़ित सदाबहार अभिनेता ऋषि कपूर भी नहीं रहेंदुनिया को अलविदा कह गए ‘इरफान खान’प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सरकार के आदेशों को कड़ाई से लागू करने का लिया निर्णयढैचा की बोवाई शुरू करें किसानयूपी के प्रवासी अपनी समस्या के लिए अपने राज्यों के प्रभारी अधिकारियों से कर सकते हैं सम्पर्क